EPFO के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब मर्ज नहीं करने पड़ेंगे PF खाते

जो लोग प्राइवेट जॉब करते है उनके लिए पीएफ खाते महत्वपूर्ण होता है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने कर्मचारियों को विभिन्न सुविधा प्रदान करने

rohit

Written by Rohit Kumar

Published on

EPFO के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब मर्ज नहीं करने पड़ेंगे PF खाते

जो लोग प्राइवेट जॉब करते है उनके लिए पीएफ खाते महत्वपूर्ण होता है. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने कर्मचारियों को विभिन्न सुविधा प्रदान करने के लिए PF खाते में नए -नए बदलाव करती है. अगर आप भी एक नौकरीपेशा व्यक्ति है तो ये जरूरी जानकारी आपके लिए राहत भरी होगी. तो आइए जानते है EPFO के नियमों में क्या बदलाव हुआ है.

EPFO के नियमों में हुआ ये बड़ा बदलाव

नौकरी करने वाले व्यक्ति को जॉब छोड़ने के बाद वित्तीय सहायता देने के लिए हर कम्पनी PF की सुविधा देती है. पहले कर्मचारियों को नौकरी बदलने पर अपना PF खाता मैन्युअल रूप से नई कम्पनी के पास ट्रांसफर करना होता था ये प्रक्रिया काफी लंबी होती है जिस वजह से काम करने में देरी और परेशानी भी होती थी लेकिन अब नए नियमों के तहत, नौकरी बदलने पर कर्मचारियों का PF खाता अपने आप नई कम्पनी के पास ट्रांसफर हो जायेगा. यानी की अब आपको जॉब बदलने पर पीएफ खाते में जमा राशि की चिंता करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी.

इसे भी देखें: EPFO Passbook देखने एवं डाउनलोड करने की प्रक्रिया

Latest Newsखुशखबरी, सभी पेन्शनभोगी ध्यान दें, सिनियर सिटीजन/पेंशनधारकों को शानदार तोहफा, एक साथ मिले कई बडे तोहफे,

खुशखबरी, सभी पेन्शनभोगी ध्यान दें, सिनियर सिटीजन/पेंशनधारकों को शानदार तोहफा, एक साथ मिले कई बडे तोहफे,

नए नियम के तहत

  • पहले पीएफ खाता ट्रांसफर करने के लिए फॉर्म भरना होता था, लेकिन अब आपको कोई फॉर्म भरने की जरूरत नहीं है और न ही अन्य प्रक्रिया से गुजरते की आवश्यकता होगी.
  • कर्मचारी अब UAN का उपयोग करके अपने सभी EPF खातों को देख सकते है.
  • UAN पोर्टल पर ऑनलाइन मर्ज करने की सुविधा उपलब्ध होगी।

पीएफ अकाउंट मर्ज न करने पर होगा ब्याज का नुकसान

हमारे व्हॉट्सऐप चैनल से जुड़ें WhatsApp

पीएफ खाते में जमा राशि पर अधिक लाभ देने के लिए ब्याज दिया जाता है, अगर आप EPF खाता मर्ज नहीं करते है, तो आपको कुछ जमा राशि पर ब्याज का नुकसान हो सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि ईपीएफ में ब्याज की गणना प्रत्येक खाते में जमा राशि पर अलग -अलग तरीके से की जाती है. मर्ज किए गए खातों के लिए, ब्याज की गणना कुल जमा राशि पर की जाती है, जिसके बाद उच्च ब्याज दर प्राप्त होती है।

EPFO में हुई निवेशकों की वृद्धि

EPFO के मुताबिक जनवरी 2024 में 16.02 लाख नए सदस्यों को जोड़ा गया है, जो कि अच्छा संकेत है. इस आंकड़े से ये पता चलता है कि भारत में संगठित क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं। युवा नागरिक को रोजगार के प्रति आकर्षित करने के लिए पीएफ की सुविधा दी जा रही है, नए सदस्यों में से 56.41% 18-25 वर्ष की आयु वर्ग के हैं। ये आंकड़ा पहले से बहुत अधिक है. जो यह बताता है कि युवा पीढ़ी औपचारिक क्षेत्र में करियर बनाने और सामाजिक सुरक्षा लाभों का लाभ उठाने के लिए उत्सुक है। इसके अलावा 12.17 लाख कर्मचारियों ने अपनी नौकरी बदलने के बाद EPFO योजनाओं में फिर से शामिल होने विकल्प चुना.

Latest NewsPPF Account: घर बैठे SBI में खोलें अपना PPF खाता, बस ये स्टेप करने हैं फॉलो

PPF Account: घर बैठे SBI में खोलें अपना PPF खाता, बस ये स्टेप करने हैं फॉलो

3 thoughts on “EPFO के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब मर्ज नहीं करने पड़ेंगे PF खाते”

Leave a Comment

हमारे Whatsaap चैनल से जुड़ें